निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक की बिक्री यूरिया की बिक्री रूपए 300 की दर से की गई है।

 निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक की बिक्री यूरिया की बिक्री रूपए 300 की दर से की गई है।


संवाददाता सुनील कुमार की रिपोर्ट।

उप जिलाधिकारी शाहबाद एवं जिला कृषि अधिकारी की संयुक्त टीम द्वारा तहसील शाहबाद क्षेत्र के अन्तर्गत संचालित कृषि निवेश बिक्री प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया। 
निरीक्षण में मै० कृषि विकास केन्द्र शाहबाद के प्रतिष्ठान से धान बीज का एक नमूना लिया गया, जिसको जांच हेतु प्रयोगशाला भेजा जा रहा है। प्रतिष्ठान पर निरीक्षण के समय श्री प्रेम सिंह पुत्र श्री हुकूम सिंह निवासी ग्राम धुरयाई शाहबाद द्वारा मै० कृषि विकास केन्द्र शाहबाद के द्वारा उनको यूरिया की बिक्री रूपए 300 की दर से की गई है। निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक की बिक्री के संबंध में प्रतिष्ठान के प्रोपराईटर द्वारा कोई भी संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक बिक्री के प्रति दोषी मानते हुए मै० कृषि विकास केन्द्र शाहबाद का उर्वरक बिक्री प्राधिकार पत्र तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया हैं। प्रतिष्ठान पर उर्वरक की आपूर्ति एवं बिक्री भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दी गई है। 

शाहबाद से करेथी मार्ग पर एक कृषक यूरिया खाद की एक बोरी साइकिल से ले जा रहा था, जिससे जानकारी करने पर बताया कि उसने बोरी यूरिया को मै० कुमार ट्रेडर्स ग्राम भुड़ासी से रूपए 300 में खरीदा है। कृषक को साथ ले जाकर प्रतिष्ठान का निरीक्षण किया गया एवं अधिक मूल्य पर यूरिया की बिक्री के संबंध में पूछा गया तो प्रोपराईटर द्वारा कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। किसान को कैश मेमो भी नहीं दी गई। प्रतिष्ठान पर कोई रेट लिस्ट एवं स्टाक बोर्ड भी नहीं लगा पाया गया। इससे स्पष्ट है कि मै0 कुमार ट्रेडर्स द्वारा भी निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरकों की बिक्री किसानों में की जा रही है। निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक की बिक्री के संबंध में प्रतिष्ठान से प्रोपराईटर के द्वारा कोई भी संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक बिक्री के प्रति दोषी मानते हुए प्रतिष्ठान का उर्वरक बिक्री प्राधिकार पत्र तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। प्रतिष्ठान पर उर्वरक की आपूर्ति एवं बिक्री भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दी गई है साथ ही मै० कुमार ट्रेडर्स भुड़ासी शाहबाद के प्रतिष्ठान से 05 उर्वरक के नमूने भी ग्रहित कर प्रयोगशाला जांच हेतु प्रेषित किए जा रहे है। 

जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि जनपद में खरीफ-2023 अभियान की सफलता के लिए गुणवत्ता पूर्ण कृषि निवेश यथा बीज, उर्वरक एवं कीटनाशी की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के साथ-साथ गुणवत्ता नियंत्रण के लिए निरन्तर आकस्मिक निरीक्षण किए जाते रहेंगे। किसी भी प्रतिष्ठान से अधोमानक कृषि निवेशों की बिक्री एवं निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर कृषि निवेशों की बिक्री की शिकायत प्राप्त होने पर उर्वरक गुण नियंत्रण आदेश 1985 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 एवं कीटनाशी अधिनियम 1968 के अधीन कठोर वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

INDIA STRONG NEWS

News portal

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने